• VNM TV

लोक डाउन की वजह से नोटो की छपाई का कार्य हुआ बंद..



देश में लोक डाउन की अवधि अब बढ़ चुकी है। काफ़ी वक्त से देश लोक डाउन के इन हालातों का सामना कर रहा है । जिसकी वजह से देश मे काफी कुछ बंद है। हालांकि अब सरकार की ओर से कुछ शर्तों के साथ कई चीजें खोलने की इजाजत दी गई है। भारत में चार जगहों पर नासिक, देवास, मैसूर व सालबोनी में नोट छपाई का काम किया जाता है। देवास की बैंक नोट प्रेस और नासिक की करेंसी नोट प्रेस वित्त मंत्रालय के अधीन काम करने वाली सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के नेतृत्व में काम करते हैं। वहीं मैसूर और सालबोनी के प्रेस भारतीय रिजर्व बैंक की सब्सिडियरी कंपनी भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड के अधीन काम करते हैं। वैसे इस स्थिति की वजह से मद्य प्रदेश के देवास की बैंक नोट प्रेस में कई वक्त से नई नोटो की छपाई नही हुई। इस मुश्किल वक्त के दौरान यहाँ पर अंदाजीत 52.5 करोड़ की नोट नही छापी जा सकी है। वही महाराष्ट्र के नासिक की प्रेस में भी नोटो की छपाई बंद है। हाल में सरकार की ओर से इस कार्य को शुरू करने की तैयारियां तो की जा रही है लेकिन अब तक यह कार्य शुरू नही हो पाया है। देवास की बैंक में हर साल 420 से 450 करोड़ नॉट छापने का टार्गेट है लेकिन इस माहौल की वजह से इस साल यह कार्य नही हो पाया। इस प्रेस में अंदाजीत 1100 कर्मचारी कार्य करते है। जो देवास और उसकी आसपास की जगह से काम करने आते है और फिल्हाल यह सारी जगहें रेड झोन में है। वैसे एक चिंता यह भी है कि अगर नोटो की छपाई जल्द ही शुरू नही की गई तो देश मे नोटो की कमी महसूस होने लगेगी जिसके बाद 24 घंटे छपाई करके लोगों तक नॉट पहुँचाने का काम काफ़ी तेजी से करना पड़ेगा।

17 views