• VNM TV

क्या ऐसे भी फैलता है कोरोना !!!जरूर जानें



अगली बार आप जब भी टॉयलेट को फ्लश करें तो सबसे पहले सीट कवर को बंद कर दें। ऐसा करने से आप कोरोना संक्रमण (कोविड-10) को फैलने से रोकेंगे। चीन के येंगझाउ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने लोगों को सलाह दी है कि टॉयलेट यूज करने के बाद फ्लश करने से पहले टॉयलेट सीट को ढकें। चीनी शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कोरोनो वायरस मानव पाचन तंत्र में जीवित रह सकता है और मल के लिए जरिए निकल सकता है।


कोरोना संक्रमित मरीज के ठीक होने के बाद उसके मल में पांच हफ्ते तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस


येंगझाउ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि टॉयलेट को फ्लश करने पर कोरोना के कण हवा में जा सकते हैं और संक्रमित कर सकते हैं।


इसलिए जब भी आप टॉयलेट यूज करें तो फ्लश करने से पहले उसका सीट कवर बंद करना ना भूलें। रिसर्च में पाया गया है कि कोरोना से संक्रमित मरीज के ठीक हो जाने के बाद भी उसके मल में वायरस पांच सप्ताह तक जिंदा रह सकता है। इसी आधार पर उन्होंने यह सलाह दी है। फिजिक्स ऑफ फ्लुइड्स नामक जर्नल में यह रिसर्च प्रकाशित हुआ है।


रिसर्च में कहा गया है कि टॉयलेट सीट से निकलकर बाथरूम के वातावरण में पहुंचे संक्रमित कण एक मिनट से अधिक समय के लिए हवा में रह सकते हैं। ऐसे में इस हवा में आया शख्स संक्रमित हो सकता है।


रिसर्च में और क्या-क्या कहा गया है?


रिसर्च में पाया गया है कि फ्लश करने पर पानी के बहाव के कारण संक्रमित कण पानी से तीन फीट उंचाई तक आ जाते हैं। जिसके बाद मल में मौजूद संक्रमित कण हवा में मिल सकते हैं। ऐसे में अगर सीट कवर बंद रहा तो इसे बाथरूम में फैलने से रोका जा सकता है।


शोधकर्ता जी-शियांग वैंग ने कहा है कि जिस जगह टॉयलेट जितना ज्यादा बार इस्तेमाल होता है, वहां खतरा उतना ज्यादा होता है। खासकर उन घरों में जहां एक साथ ज्यादा लोग रहते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है, इस समस्या का एक ही इलाज है सीट कवर को ढक कर फ्लश किया जाए।

0 views