• VNM TV

जिलाधीश कार्यालय के शौचालय में देसी शराब की पोटलियों की भरमार


गुजरात राज्य में शराबबंदी के सख्त पालन का प्रयास गुजरात राज्य की सरकार और गुजरात पुलिस द्वारा किया जाता है। अक्सर लाखों-करोड़ों की शराब तस्करी उजागर कर पुलिस और सरकार वाहवाही लूटते हैं,लेकिन कहा जाता है कि दिया तले अंधेरा सरकार भले ही शराबबंदी की डींगे हांक रही हो, लेकिन वड़ोदरा शहर में तो आए दिन शराब बंदी की धज्जिया उड़ती हुई साफ साफ दिखाई पड़ती है।



आप सोच रहे होंगे कि यह कहां का शौचालय है जहां शराब की पोटलियों के ढेर हैं, तो हम आपको बता दें यह वड़ोदरा जिला प्रशासन के सबसे बड़े कार्यालय जिलाधीश कार्यालय का शौचालय है। जहां शराब की पोटलियों की भरमार है। दरअसल शहर में सुचारू व्यवस्था कायम करने में प्रयासरत सामाजिक कार्यकर्ता अतुल गामेची ने जिलाधीश कार्यालय की गंदगी हटाने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया था,लेकिन स्वच्छता अभियान के दौरान ऐसी हकीकत सामने आई।जिससे सभी भोचकके रह गए,यहां शौचालय में जगह-जगह देशी शराब की पी कर फेंकी गई पोटलिया पाई गई,अब यह तो साफ है शराब पीने वाले लोग शौचालय में आते हैं,शराब पीते हैं और यही कचरा फेंक कर चले जाते हैं।स्वच्छता अभियान पर तो बड़ा सवालिया निशान लगाते हैं और शराबबंदी की धज्जियां भी उड़ाते हैं। सवाल यह भी उठता है यह नशा सरकारी कार्यालय के कर्मचारी करते हैं कि फिर कचहरी में अपने काम करवाने आने वाले लोग...


नशा भले ही कोई भी करता हो लेकिन शौचालय में इस तरह शराब की थैलियां पाए जाना जिला प्रशासन के लिए शर्मनाक घटना से कम नहीं है। एक और रोज शराब तस्करी में शामिल लोगों को पकड़कर उन पर कानूनी कार्यवाही की जाती है और दूसरी और शहर के सबसे बड़े सरकारी कार्यालय में धड़ल्ले से शराब पी जाती है इसे दिया तले अंधेरा नहीं कहेंगे तो भला और क्या कहेंगे....


अक्सर बड़ोदरा शहर में नशा करने वाले लोगों पर कानूनी कार्यवाही की जाती है उन्हें दंडित भी किया जाता है। जिलाधीश कार्यालय में जगह-जगह कैमरे लगे हुए हैं ऐसे में क्या शौचालय में आने जाने वाले लोगों से पूछताछ कर कार्यवाही जिलाध्यक्ष द्वारा की जाएगी या फिर ऐसे संगीन मामलों को भी ठंडे बस्ते में डाल दिया जाएगा यह जरूर देखने लायक होगा।


43 views